Jai Mata Di

क्यों मनाया जाता है नवरात्र पर्व ? जानिये नवरात्र और माँ दुर्गा से जुडी 10 बातें !!!

Kyun manaya jaata hai Navratra Parv?, Navratra aur maa durga se judi 10 baatein

जय अम्बे। माँ दुर्गा आप सब की मनोकामना पूरी करें।आज में आपको बताऊंगा माँ दुर्गा और नवरात्र से जुड़ी 10 बातें जो आपके लिए जानना जरूरी है।

1) नवरात्र ।।। ये दो शब्दों से मिल कर बना है। नव + रात्र अर्थात 9 रात्रियाँ इसमें हर दिन देवी के नए अवतार को पूजा जाता है। ये 9 रूप हैं। शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा,कुष्मांडा, स्कंदमाता, कालरात्रि, कात्यानी, महागौरी और सिद्धिदात्री।

२) भारत के कुछ भागों में जिन 9 रूपों की पूजा होती है, वे हैं :- दुर्गा, भद्रकाली, अम्बा, अन्नपूर्णा, सर्वमंगला,भैरवी, चंडिका, ललिता, भवानी और मूकाम्बिका।


३) हिन्दू धरम के प्राचीन शास्त्रों में देवी दुर्गा जिन 9 रूपों में प्रकट हुई हैं, वे हैं :- महाकाली, महालक्ष्मी, महा सरस्वती, योगमाया, रक्त दन्तिका, शाकम्भरी, दुर्गसेनी, भ्रामरी और चंडिका।

4) चैत्र, अश्विन, माघ, आषाढ़, इन् महीनो में नवरात्र का त्यौहार मनाया जाता है। इन् सब में महा नवरात्र मन गया है: आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से लेकर 9 दिन तक। इसे शारदीय नवरात्र भी कहते हैं। इन्ही 9 दिन देवी दुर्गा का महिषासुर से युद्ध हुआ था और उससे अगला दिन विजयदशमी या दशहरे के रूप में मनाते हैं।

Durga Mahishasur Mardini5) अध्यात्म कथाओं के अनुसार, महिषासुर ने ब्रह्माजी से वरदान माँगा की उसे कोई आदमी न मार सके। अर्थात उसका वध एक स्त्री के हाथो संभव था। तब देवी दुर्गा की उत्पति हुई। कुछ कहानियों में ये भी दिखाया गया है की महिषासुर ने माँ दुर्गा के आगे शादी का प्रस्ताव रखा। तब माता ने शर्त राखी की अगर वो उन्हें युद्ध में परास्त कर देता है तो यह संभव है। और इस युद्ध में माता ने महिषासुर का संहार किया।

6) पूर्वी भारत में यह कथा प्रचलित है की दक्षपुत्री माँ पार्वती जो कैलाश पर्वत पर महादेव संग निवास करती हैं, वो 9 दिन के लिए अपने मायके आती हैं, साथ में 4 बच्चे लक्ष्मी, सरस्वती, कार्तिकेय और गणेश। और संग में दो सखियाँ जया और बिजया।

7) इन् 9 दिनों की महत्ता ३-३ दिनों के संक्षेप हैं। पहले ३ दिन दुर्गा के रूप की पूजा होती है जो पृथ्वी से साड़ी नकारात्मक ऊर्जा को ख़त्म करती है।अगले ३ दिन लक्ष्मी की जो धन-धान्य से घर भरती हैं। और आखरी ३ दिन सरस्वती की जो हर प्रकार के ज्ञान की स्त्रोत हैं।

8) दक्षिण भारत में 9वें दिन आयुध पूजा या शस्त्र पूजा की जाती है। सिपाही अपने हथियारों की, किसान हलों की, आर्टिस्ट अपने टूल्स की, यहां तक की कम्प्यूटर्स, प्रिंटर्स, CDs टाइप-Writers इत्यादि की भी पूजा की जाती है।

Which Color should wear in navratra9) क्या आप जानते हैं की इन 9 दिनों में किस किस रंग के वस्त्र पहनने चाहिए? पहले दिन लाल, दुसरे दिन नीले, तीसरे दिन पीले, चौथे दिन हरे, पांचवे दिन स्लेटी, छठे दिन संतरिये, सातवे दिन सफेद, आठवे दिन गुलाबी और नौवे दिन आसमानी वस्त्र धारण करें।

10) महिषासुर क्यूंकि आधा भैसा और आधा राक्षस था , इसलिए राजस्थान, बंगाल और असम में भैसे की बलि दी जाती है। और उसकी अनुपस्थति में बकरे की बलि दी जाती है।

तो दोस्तों, ये थी वो दस बातें माँ दुर्गा और नवरों से सम्बंधित, आशा करता हूँ की आपको पसंद आयी होंगी।
जय अम्बे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *